बिना नेट क्वालिफाई किए कैसे बनाएं टीचिंग में बेहतरीन करियर? ऐसे और सवालों के यहां हैं जवाब

बिना नेट क्वालिफाई किए कैसे बनाएं टीचिंग में बेहतरीन करियर? ऐसे और सवालों के यहां हैं जवाब

November 29, 2019 05:55 PM
बिना नेट क्वालिफाई किए कैसे बनाएं टीचिंग में बेहतरीन करियर? ऐसे और सवालों के यहां हैं जवाब

नई दिल्ली । करियर और पढ़ाई से जुड़ी हर तरह के सवालों के जवाब यहां मौजूद हैं। आप भी ड़ालें एक नजर-

मैंने पीजी फिजिक्स से 54 फीसदी के साथ किया है। नेट जेआरएफ की परीक्षा देने हेतु पात्र नहीं हूं। मैं बीएससी से ही एक शिक्षक बनकर शिक्षा क्षेत्र की खामियों को दूर करना चाहता हूं। आज के शिक्षक विद्यार्थियों में विज्ञान की जानकारियां सिर्फ परीक्षा में पास होने के लिए देते हैं, लेकिन मैं विज्ञान को रुचिकर तरीके से विद्यार्थियों को सिखाना चाहता हूं। इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए? कृपया मार्गदर्शन करें।

-अमित पाठक, ईमेल से

आपको सकारात्मकता के साथ समुचित समाधान की तलाश करनी चाहिए। देश में ऐसे बहुत सारे युवा हैं, जो सक्षम और प्रतिभाशाली होते हुए भी नंबरों की स्पर्धा में पीछे रह जाने के कारण अपना लक्ष्य हासिल करने से वंचित रह जाते हैं। बहरहाल, अगर आप नेट-जेआरएफ नहीं दे पा रहे हैं, तो क्या हुआ, आप सीधे एमफिल/पीएचडी करने का प्रयास करें। पीएचडी कर लेने के बाद आपको नेट क्वालिफाई करने की जरूरत नहीं रह जाएगी और आप इसके आधार पर टीचिंग प्रोफेशन में अपनी जगह बना सकते हैं। पीएचडी के आधार पर आप सेंट्रल यूनिवर्सिटी, स्टेट यूनिवर्सिटी, डीम्ड और प्राइवेट यूनिवर्सिटी से आसानी से जुड़ सकते हैं। एक विकल्प बीएड और सीटीईटी करके बारहवीं तक के सरकारी और निजी स्कूलों से भी जुड़ने का है। रिसर्च के दौरान आप टीचिंग की अपनी इनोवेटिव गतिविधियों पर भी काम कर सकते हैं।

मैं बीए सेकंड ईयर की स्टूडेंट हूं। मेरा एक ही ड्रीम है यूपीएससी क्लीयर करना। ज्योग्राफी और हिस्ट्री मेरे सब्जेक्ट हैं। पर मैं अपने पास ऑप्शन बी भी रखना चाहती हूं। कृपया मुझे सही रास्ता दिखाएं। ज्योग्राफी सब्जेक्ट से दूसरा कौन-सा विकल्प हो सकता है?

-काजल कुमारी, ईमेल से

यह अच्छी बात है कि यूपीएससी में अनिश्चितता को देखते हुए आप अपने पास प्लान बी रखना चाहती हैं। पहले तो आप अपने सामथ्र्य की समुचित जांच-परख करते हुए जी-जान से यूपीएससी की तैयारी को आगे बढ़ाएं। इसके साथ अगर आपकी ज्योग्राफी में गहरी रुचि है, तो इस विषय में अपनी योग्यता को बढ़ाते हुए पीजी, पीएचडी तक की डिग्री हासिल कर सकती हैं। इसके आधार पर आपको मौसम विज्ञान विभाग, वेदर से जुड़ी संस्थाओं, कृषि शोध संस्थानों के अलावा एनजीओ आदि में अच्छी जॉब मिल सकती है।
मैं बीएससी फाइनल ईयर हिंदी मीडियम का छात्र हूं। अपना करियर पत्रकारिता के क्षेत्र में बनाने के साथ-साथ एक मिसाल कायम कर अच्छा खासा नाम कमाना चाहता हूं। आगे की पढ़ाई कैसे और कहां से करूं? मुझे क्या करना चाहिए?

-अभी तिवारी, कानपुर, ईमेल से

पत्रकारिता के क्षेत्र में मिसाल कायम करने के लिए आपको अपना नजरिया बहुआयामी बनाने के साथ उसमें गहराई लानी होगी। आप किसी एक क्षेत्र में विशेषज्ञता का प्रयास भी कर सकते हैं। इसके लिए उसमें अपने अध्ययन, इनोवेशन और नए नजरिए से कुछ नया प्रभाव लाने का सतत प्रयास करना होगा। इसके अलावा, सरल, सहज और प्रभावशाली भाषा में अपनी बात कहने, लिखने का जमकर अभ्यास करें।


pptvnews
About us | Contact us | Our Team | Privacy Policy | Terms & Conditions | Downloads
loading...